Monday, April 16, 2012

हर पल में खुश रहो


ज़िन्दगी छोटी है हर पल में खुश रहो,
आज पनीर नहीं तो दाल में खुश रहो,
आज दोस्तों का साथ नहीं तो टीवी देख कर खुश रहो,
घर जा नहीं सकते तो फ़ोन करके खुश रहो,
जिसे देख नहीं सकते, उसकी आवाज में खुश रहो,
जिसे पा नहीं सकते उसकी यादों में खुश रहो,
बीता हुआ कल जा चूका है, उसकी मीठी यादों में खुश रहो,
आने वाले पल का पता नहीं तो उसके सपनो में ही खुश रहो,
हँसते हँसते जिंदगी बीत जाएगी, बस हर पल खुश रहो.

1 comment: