Sunday, February 8, 2015

6yr in IT World

The sound of marching feet,
Curious face around the architectural masterpiece,
Long queue in front of multiplex,
The feelings of proud & achievements,
And excitement of " what going to be Next"
And magic sound appears: " Welcome To Infosys"
Than time flies on...
And here I( #Feb09LC1) completed 6yr in IT World :)
"Being my first job, it will always remain close to my heart"
#Infy #Infosys

Saturday, February 7, 2015

बहाने v/s सफलता ( Excuse V/S Success )

~ ~ * बहाने Vs सफलता *~ ~
          ****************
1- मुझे उचित शिक्षा लेने का अवसर नही मिला...

उचित शिक्षा का अवसर फोर्ड मोटर्स के मालिक हेनरी फोर्ड को भी नही मिला ।

**********************

2- मै इतनी बार हार चूका , अब हिम्मत नही...

अब्राहम लिंकन 15 बार चुनाव हारने के बाद राष्ट्रपति बने।

**********************

3- मै अत्यंत गरीब घर से हूँ ...

पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम भी गरीब घर से थे ।
*********************

4- बचपन से ही अस्वस्थ था...

आँस्कर विजेता अभिनेत्री मरली मेटलिन भी बचपन से बहरी व अस्वस्थ थी ।
**********************

5 - मैने साइकिल पर घूमकर आधी ज़िंदगी गुजारी है...

निरमा के करसन भाई पटेल ने भी
साइकिल पर निरमा बेचकर
आधी ज़िंदगी गुजारी ।
**********************
6- एक दुर्घटना मे
अपाहिज होने के बाद
मेरी हिम्मत चली गयी...

प्रख्यात नृत्यांगना
सुधा चन्द्रन के पैर नकली है ।
**************************

7- मुझे बचपन से मंद बुद्धि
कहा जाता है...

थामस अल्वा एडीसन को भी
बचपन से मंदबुद्धि कहा जता था।
************************

8- बचपन मे ही मेरे पिता का
देहाँत हो गया था...

प्रख्यात संगीतकार
ए.आर.रहमान के पिता का भी
देहांत बचपन मे हो गया था।
***********************

9- मुझे बचपन से परिवार की
जिम्मेदारी उठानी पङी...

लता मंगेशकर को भी
बचपन से परिवार की जिम्मेदारी
उठानी पङी थी।
*********************

10- मेरी लंबाई बहुत कम है...

सचिन तेंदुलकर की भी
लंबाई कम है।
*********************

11- मै एक छोटी सी नौकरी करता हूँ ,

इससे क्या होगा...
धीरु अंबानी भी
छोटी नौकरी करते थे।
**********************

12- मेरी कम्पनी एक बार  दिवालिया हो चुकी है , अब मुझ पर कौन भरोसा करेगा...

दुनिया की सबसे बङी
शीतल पेय निर्माता पेप्सी कोला भी
दो बार दिवालिया हो चुकी है ।
*********************

13- मेरा दो बार नर्वस ब्रेकडाउन हो चुका है , अब क्या कर पाउँगा...

डिज्नीलैंड बनाने के पहले
वाल्ट डिज्नी का तीन बार
नर्वस ब्रेकडाउन हुआ था।
**************************

14- मेरी उम्र बहुत ज्यादा है...

विश्व प्रसिद्ध केंटुकी फ्राइड चिकेन
के मालिक ने 60 साल की उम्र मे
पहला रेस्तरा खोला था।
*********************

15- मेरे पास बहुमूल्य आइडिया है पर लोग अस्वीकार कर देते है...

जेराँक्स फोटो कापी मशीन के
आईडिया को भी ढेरो कंपनियो ने
अस्वीकार किया था पर आज
परिणाम सामने है ।
*************************

16- मेरे पास धन नही...

इन्फोसिस के पूर्व चेयरमैन
नारायणमूर्ति के पास भी धन नही था
उन्हे अपनी पत्नी के गहने बेचने पङे।
*************************

17- मुझे ढेरो बीमारियां है..

वर्जिन एयरलाइंस के प्रमुख भी
अनेको बीमारियो मे थे |
राष्ट्रपति रुजवेल्ट के दोनो पैर
काम नही करते थे।
*************************

आज आप जहाँ भी है

या कल जहाँ भी होगे
इसके लिए आप किसी और को
जिम्मेदार नही ठहरा सकते ,
इसलिए आज चुनाव करिये -
सफलता और सपने चाहिए
या खोखले बहाने ...

Thursday, February 5, 2015

काश में मोबाइल होता

Plz read once before its very late !!!

वह प्राइमरी स्कूल की टीचर थी | 

सुबह उसने बच्चो का टेस्ट लिया था 

और उनकी कॉपिया जाचने के लिए

 घर ले आई थी | बच्चो की कॉपिया 

देखते देखते उसके आंसू बहने लगे | उसका पति वही लेटे mobile देख रहा था | 

उसने रोने का कारण पूछा ।

टीचर बोली , “सुबह मैंने बच्चो को 

‘मेरी सबसे बड़ी ख्वाइश’ विषय पर कुछ 

पंक्तिया लिखने को कहा था ; एक बच्चे 

ने इच्छा जाहिर करी है की भगवन उसे

 Mobile बना दे |

यह सुनकर पतिदेव हंसने लगे |

टीचर बोली , “आगे तो सुनो बच्चे ने 

लिखा है यदि मै mobile बन जाऊंगा, तो

 घर में मेरी एक खास जगह होगी और 

सारा परिवार मेरे इर्द-गिर्द रहेगा | 

जब मै बोलूँगा, तो सारे लोग मुझे ध्यान 

से सुनेंगे | मुझे रोका टोका नहीं जायेंगा

 और नहीं उल्टे सवाल होंगे | 

जब मै mobile बनूंगा, तो पापा ऑफिस से 

आने के बाद थके होने के बावजूद मेरे 

साथ बैठेंगे | मम्मी को जब तनाव होगा,

 तो वे मुझे डाटेंगी नहीं, बल्कि मेरे साथ 

रहना चाहेंगी | मेरे बड़े भाई-बहनों के 

बीच मेरे पास रहने के लिए झगडा होगा | 

यहाँ तक की जब mobile बंद रहेंगा, तब भी

 उसकी अच्छी तरह देखभाल होंगी | 

और हा, mobile के रूप में मै सबको ख़ुशी 

भी दे सकूँगा | “

यह सब सुनने के बाद पति भी थोड़ा 

गंभीर होते हुए बोला ,

 ‘हे भगवान ! बेचारा बच्चा …. उसके 

माँ-बाप तो उस पर जरा भी ध्यान नहीं 

देते !’

टीचर पत्नी ने आंसूं भरी आँखों से 

उसकी तरफ देखा और बोली, 

“जानते हो, यह बच्चा कौन है? ………………………हमारा अपना बच्चा……

.. हमारा छोटू |”

सोचिये, यह छोटू कही आपका बच्चा 

तो नहीं ।

मित्रों , आज की भाग-दौड़ भरी ज़िन्दगी 

में हमें वैसे ही एक दूसरे के लिए कम 

वक़्त मिलता है , और अगर हम वो भी 

सिर्फ टीवी देखने , मोबाइल पर 

खेलने और फेसबुक से चिपके रहने में 

गँवा देंगे तो हम कभी अपने रिश्तों की 

अहमियत और उससे मिलने वाले प्यार 

को नहीं समझ पायेंगे।

Moral : Please spare some of your valuable time for your FAMILY.