Wednesday, April 29, 2015

हम क्या से क्या हो गए

जाने क्यूं अब शर्म से, 
चेहरे गुलाब नही होते।
जाने क्यूं अब मस्त मौला मिजाज नही होते।

पहले बता दिया करते थे, 
दिल की बातें।
जाने क्यूं अब चेहरे, 
खुली किताब नही होते।

सुना है बिन कहे ही 
दिल की बात समझ लेते थे,
गले लगते ही दोस्त हालात समझ लेते थे।

जब ना फेस बुक थी ....
ना व्हाटस एप था ....
ना मोबाइल था .....
एक चिट्ठी से ही दिलों के जज्बात समझ लेते थे।

सोचता हूं, हम कहां से कहां आ गये।

प्रेक्टीकली सोचते सोचते
भावनाओं को खा गये।

अब भाई भाई से समस्या का समाधान कहां पूछता है .....
अब बेटा बाप से उलझनों का निदान कहां पूछता है .....
बेटी नही पूछती मां से गृहस्थी के सलीके।
अब कौन गुरु के चरणों में बैठकर ज्ञान की परिभाषा सीखे।

परियों की बातें अब किसे भाती हैं ....
अपनो की याद अब किसे रुलाती है ......
अब कौन गरीब को सखा बताता है .....
अब कहां कृष्ण सुदामा को गले लगाता है .....

जिन्दगी मे हम प्रेक्टिकल हो गये है ....
रोबोट बन गये हैं सब ...
इंसान जाने कहां खो गये हैं ..... !!

Tuesday, April 7, 2015

live life.. Dont fight...


तू जिंदगी को जी उसे समझने की कोशिश न कर

सुन्दर सपनो के ताने बाने बुन
उसमे उलझनेकी कोशिश न कर

चलते वक़्त के साथ 
तू भी चल
उसमे सिमटने की 
कोशिश न कर

अपने हाथो को फैला, 
खुल कर साँस ले
अंदर ही अंदर घुटने की कोशिश न कर

मन में चल रहे युद्ध को विराम दे
खामख्वाह खुद से लड़ने की कोशिश न कर

कुछ बाते खुदा पर छोड़ दे
सब कुछ खुद सुलझाने की कोशिश न कर

जो मिल गया उसी में खुश रह
जो सकून छीन ले वो पाने की कोशिश न कर

रास्ते की सुंदरता का 
लुत्फ़ उठा
मंजिल पर जल्दी पहुचने की कोशिश न कर.....🌹

Sunday, February 8, 2015

6yr in IT World

The sound of marching feet,
Curious face around the architectural masterpiece,
Long queue in front of multiplex,
The feelings of proud & achievements,
And excitement of " what going to be Next"
And magic sound appears: " Welcome To Infosys"
Than time flies on...
And here I( #Feb09LC1) completed 6yr in IT World :)
"Being my first job, it will always remain close to my heart"
#Infy #Infosys

Saturday, February 7, 2015

बहाने v/s सफलता ( Excuse V/S Success )

~ ~ * बहाने Vs सफलता *~ ~
          ****************
1- मुझे उचित शिक्षा लेने का अवसर नही मिला...

उचित शिक्षा का अवसर फोर्ड मोटर्स के मालिक हेनरी फोर्ड को भी नही मिला ।

**********************

2- मै इतनी बार हार चूका , अब हिम्मत नही...

अब्राहम लिंकन 15 बार चुनाव हारने के बाद राष्ट्रपति बने।

**********************

3- मै अत्यंत गरीब घर से हूँ ...

पूर्व राष्ट्रपति अब्दुल कलाम भी गरीब घर से थे ।
*********************

4- बचपन से ही अस्वस्थ था...

आँस्कर विजेता अभिनेत्री मरली मेटलिन भी बचपन से बहरी व अस्वस्थ थी ।
**********************

5 - मैने साइकिल पर घूमकर आधी ज़िंदगी गुजारी है...

निरमा के करसन भाई पटेल ने भी
साइकिल पर निरमा बेचकर
आधी ज़िंदगी गुजारी ।
**********************
6- एक दुर्घटना मे
अपाहिज होने के बाद
मेरी हिम्मत चली गयी...

प्रख्यात नृत्यांगना
सुधा चन्द्रन के पैर नकली है ।
**************************

7- मुझे बचपन से मंद बुद्धि
कहा जाता है...

थामस अल्वा एडीसन को भी
बचपन से मंदबुद्धि कहा जता था।
************************

8- बचपन मे ही मेरे पिता का
देहाँत हो गया था...

प्रख्यात संगीतकार
ए.आर.रहमान के पिता का भी
देहांत बचपन मे हो गया था।
***********************

9- मुझे बचपन से परिवार की
जिम्मेदारी उठानी पङी...

लता मंगेशकर को भी
बचपन से परिवार की जिम्मेदारी
उठानी पङी थी।
*********************

10- मेरी लंबाई बहुत कम है...

सचिन तेंदुलकर की भी
लंबाई कम है।
*********************

11- मै एक छोटी सी नौकरी करता हूँ ,

इससे क्या होगा...
धीरु अंबानी भी
छोटी नौकरी करते थे।
**********************

12- मेरी कम्पनी एक बार  दिवालिया हो चुकी है , अब मुझ पर कौन भरोसा करेगा...

दुनिया की सबसे बङी
शीतल पेय निर्माता पेप्सी कोला भी
दो बार दिवालिया हो चुकी है ।
*********************

13- मेरा दो बार नर्वस ब्रेकडाउन हो चुका है , अब क्या कर पाउँगा...

डिज्नीलैंड बनाने के पहले
वाल्ट डिज्नी का तीन बार
नर्वस ब्रेकडाउन हुआ था।
**************************

14- मेरी उम्र बहुत ज्यादा है...

विश्व प्रसिद्ध केंटुकी फ्राइड चिकेन
के मालिक ने 60 साल की उम्र मे
पहला रेस्तरा खोला था।
*********************

15- मेरे पास बहुमूल्य आइडिया है पर लोग अस्वीकार कर देते है...

जेराँक्स फोटो कापी मशीन के
आईडिया को भी ढेरो कंपनियो ने
अस्वीकार किया था पर आज
परिणाम सामने है ।
*************************

16- मेरे पास धन नही...

इन्फोसिस के पूर्व चेयरमैन
नारायणमूर्ति के पास भी धन नही था
उन्हे अपनी पत्नी के गहने बेचने पङे।
*************************

17- मुझे ढेरो बीमारियां है..

वर्जिन एयरलाइंस के प्रमुख भी
अनेको बीमारियो मे थे |
राष्ट्रपति रुजवेल्ट के दोनो पैर
काम नही करते थे।
*************************

आज आप जहाँ भी है

या कल जहाँ भी होगे
इसके लिए आप किसी और को
जिम्मेदार नही ठहरा सकते ,
इसलिए आज चुनाव करिये -
सफलता और सपने चाहिए
या खोखले बहाने ...

Thursday, February 5, 2015

काश में मोबाइल होता

Plz read once before its very late !!!

वह प्राइमरी स्कूल की टीचर थी | 

सुबह उसने बच्चो का टेस्ट लिया था 

और उनकी कॉपिया जाचने के लिए

 घर ले आई थी | बच्चो की कॉपिया 

देखते देखते उसके आंसू बहने लगे | उसका पति वही लेटे mobile देख रहा था | 

उसने रोने का कारण पूछा ।

टीचर बोली , “सुबह मैंने बच्चो को 

‘मेरी सबसे बड़ी ख्वाइश’ विषय पर कुछ 

पंक्तिया लिखने को कहा था ; एक बच्चे 

ने इच्छा जाहिर करी है की भगवन उसे

 Mobile बना दे |

यह सुनकर पतिदेव हंसने लगे |

टीचर बोली , “आगे तो सुनो बच्चे ने 

लिखा है यदि मै mobile बन जाऊंगा, तो

 घर में मेरी एक खास जगह होगी और 

सारा परिवार मेरे इर्द-गिर्द रहेगा | 

जब मै बोलूँगा, तो सारे लोग मुझे ध्यान 

से सुनेंगे | मुझे रोका टोका नहीं जायेंगा

 और नहीं उल्टे सवाल होंगे | 

जब मै mobile बनूंगा, तो पापा ऑफिस से 

आने के बाद थके होने के बावजूद मेरे 

साथ बैठेंगे | मम्मी को जब तनाव होगा,

 तो वे मुझे डाटेंगी नहीं, बल्कि मेरे साथ 

रहना चाहेंगी | मेरे बड़े भाई-बहनों के 

बीच मेरे पास रहने के लिए झगडा होगा | 

यहाँ तक की जब mobile बंद रहेंगा, तब भी

 उसकी अच्छी तरह देखभाल होंगी | 

और हा, mobile के रूप में मै सबको ख़ुशी 

भी दे सकूँगा | “

यह सब सुनने के बाद पति भी थोड़ा 

गंभीर होते हुए बोला ,

 ‘हे भगवान ! बेचारा बच्चा …. उसके 

माँ-बाप तो उस पर जरा भी ध्यान नहीं 

देते !’

टीचर पत्नी ने आंसूं भरी आँखों से 

उसकी तरफ देखा और बोली, 

“जानते हो, यह बच्चा कौन है? ………………………हमारा अपना बच्चा……

.. हमारा छोटू |”

सोचिये, यह छोटू कही आपका बच्चा 

तो नहीं ।

मित्रों , आज की भाग-दौड़ भरी ज़िन्दगी 

में हमें वैसे ही एक दूसरे के लिए कम 

वक़्त मिलता है , और अगर हम वो भी 

सिर्फ टीवी देखने , मोबाइल पर 

खेलने और फेसबुक से चिपके रहने में 

गँवा देंगे तो हम कभी अपने रिश्तों की 

अहमियत और उससे मिलने वाले प्यार 

को नहीं समझ पायेंगे।

Moral : Please spare some of your valuable time for your FAMILY.

Monday, January 26, 2015

छोटा सा सम्मान

ये कहानी इक ऐसे व्यक्ति की है
जो एक फ्रीजर प्लांट में काम करता था ।
वह दिन का अंतिम समय था व् सभी घर जाने
को तैयार थे तभी प्लांट में एक
तकनीकी समस्या उत्पन्न
हो गयी और वह उसे दूर करने में जुट गया ।
जब तक वह कार्य पूरा करता तब तक अत्यधिक देर
हो गयी ।
दरवाजे सील हो चुके थे व् लाईटें बुझा दी गईं ।
बिना हवा व् प्रकाश के पूरी रात आइस प्लांट में फसें रहने के कारण उसकी बर्फीली कब्रगाह बनना तय था ।
घण्टे बीत गए तभी उसने किसी को दरवाजा खोलते पाया ।...
क्या यह इक चमत्कार था ?
सिक्यूरिटी गार्ड टोर्च लिए खड़ा था व् उसने उसे
बाहर निकलने में मदद की। वापस आते समय उस
व्यक्ति ने सेक्युर्टी गार्ड से पूछा "आपको कैसे
पता चला कि मै भीतर हूँ ?" गार्ड ने उत्तर दिया "
सर, इस प्लांट में 50 लोग कार्य करते हैँ पर सिर्फ एक आप हैँ
जो सुबह मुझे हैलो व् शाम को जाते समय बाय कहते हैँ ।
आज सुबह आप ड्यूटी पर आये थे पर शाम
को आप बाहर नही गए । इससे मुझे शंका हुई और
मैं देखने चला आया ।
वह व्यक्ति नही जानता था कि उसका किसी को छोटा सा सम्मान देना कभी उसका जीवन बचाएगा ।
याद रखेँ, जब भी आप किसी से मिलते
हैं तो उसका गर्मजोश मुस्कुराहट के साथ सम्मान करें । हमें नहीं पता पर हो सकता है कि ये आपके
जीवन में भी चमत्कार दिखा दे ।

बल्ले की बल्ले - बल्ले

पहाड़ में फंसी एक बेटी ने अपनी मां से पूछा -
मां रेडियो पे सुना ईंडिया जीत गई,
जो खेल रहे थे उन्हे एक करोड़ रुपिया मिला !
मां बोली - हाँ बेटी, सरकार कहती है
वो देश के लिए खेल रहे थे इसलिए !

बेटी आसमान में हैलीकॉप्टर से लटकते जवान
को देख के बोली -
मां क्या इन्हे भी मिलेगा एक करोड़ ?
मां बोली - ना बेटी ना, हमारे यहां बल्ले से खेलने वाले को ईनाम मिलता है, जान से खेलने वाले को नही !!

दिल कॊ छुये तो शहीदों के सम्मान में कमेंट बॉक्स में जय हिन्द जरूर लिखें ।
जय हिन्द ।

Saturday, January 24, 2015

Good Morning Dhar Dt. 18/Jan/2015 #gmDhar

#dhar #A24M #gmDhar

Good Morning Dhar Dt. 25/Jan/2015 #gmDhar

#Dhar #gmDhar #A24M

26 जनवरी - सोने की चिड़िया बना दो मोदी जी

घुट घुट कर सब जीते आये, भूल गये आजादी को !
लाल किले से दो संदेशा, भारत की आबादी को !!

आजादी का असली मतलब, याद दिला दो मोदी जी !
26 जनवरी पर भारत को, गणतंत्र बना दो मोदी जी !!

आज भी मेरे देश के बच्चे, भूखे ही सो जाते हैं !
माँ का झूठा दिलासा लेकर, सपनों में खो जाते हैं !!

हर बच्चे को भोजन का, अधिकार दिला दो मोदी जी !
26 जनवरी पर भारत को, गणतंत्र बना दो मोदी जी !!

आरक्षण का जाल बिछा है, जीवन में हर मोड़ यहाँ !
लंगड़ा लूला दौड़ रहा है, ओलम्पिक की दौड़ यहाँ !!

सच्चे हुनर को दुनिया में, पहचान दिला दो मोदी जी !
26 जनवरी पर भारत को, गणतंत्र बना दो मोदी जी !!

मातृभाषा है हिंदी हमारी, तरस रही पहचान को !
सबने मिलकर कर डाला है, इंडिया हिंदुस्तान को !!

हर कोने में हिंदी को, अनिवार्य बना दो मोदी जी !
26 जनवरी पर भारत को, गणतंत्र बना दो मोदी जी !!

फ़ैक्टरियों से निकला मलबा, नदियों में जा मिलता है !
लाखों लोगों का जनजीवन, उसी पानी से चलता है !!

नदियों को गंगा सी निर्मल, फ़िर से बना दो मोदी जी !
26 जनवरी पर भारत को, गणतंत्र बना दो मोदी जी !!

सदियों पहले देश हमारा, विश्वगुरू कहलाता था !
गैर मुल्क से पढ़ने युवा, मेरे वतन में आता था !!

भारत को फ़िर से उसका, सम्मान दिला दो मोदी जी !
26 जनवरी पर भारत को, गणतंत्र बना दो मोदी जी !!

धन्यवाद ।

।। वंदे मातरम् ।।
।। वंदे भारतम् ।।
।। जय माँ भारती ।।
#hindustan #gantantra #A24M #republicday #namo #india #bharat

Note: got as fwd - source unknown